ISED (Integrated Socio-Economic Development Services.) Services is focused to help create an effective platform for Global small entrepreneurial development.

विवरण देखें »

Madhya Pradesh,famous as the Soybean State, has earned the highest award "Krishi Karman" given by the Government of India in the field of agriculture for six Years.

विवरण देखें »

National Bank for Agriculture and Rural Development is an apex regulatory body for overall regulation of regional rural banks and apex cooperative banks in India.

विवरण देखें »


पंजीकरण

Enter captcha :

हमारे बारे में

Transform the global socio-economic development practices to promote the overall sustained development through collaborative and participative approach. Global integration of various domains , to foster the socio-economic development of start-ups and small entrepreneurs to ensure the equal growth opportunities at global prospects with focus on IT/ICT, Agriculture, Education, Health Care and Applied Innovations.


संपर्क करें

हमें कॉल करें
स्थान
ई-मेल

isedsummit@gmail.com

isedservices@gmail.com


कार्यक्रम विवरण

जिलाधिकारी नरसिंहपुर के नेतृत्व में जिला प्रशासन द्वारा “किसान उत्पादक संगठनो (FPOs) और स्वयं सहायता समूहों (SHGs) के राष्ट्रीय व्यापार सम्मलेन सम्मेलन 2022" का आयोजन २६ से २७ अप्रैल-2022 तक किया जा रहा है। यह सम्मलेन FPOs और SHGs की सतत एवं टिकाऊ विकास से संबन्धित ज्वलंत मुद्दों के समाधान हेतु आयोजित किया जा रहा है। प्रस्तावित कार्यक्रम व्यावसायिक संसाथनों, विकास एजेंसियों, सीएसआर, सरकारी संस्थानों आदि के साथ FPOs और SHGs के लिए स्थायी व्यापार समाधान एवं सतत व्यापारिक संबंधों के लिए एक मंच के रूप में कार्य करेगा।

प्रस्तावित कार्यक्रम के मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

  1. एक एफपीओ (FPO) को दुसरे एफपीओ (FPO) के साथ व्यवसाय को बढ़ावा देना, व्यवसाय वृद्धि करना और व्यवसाय सहयोग हेतु उनको कृषि व्यवसाय के अभिनव व्यापार मॉडल से परिचय कराना

  2. व्यावसायिक संस्थानों , कृषि उद्योगों, खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों और निर्यातकों के साथ एफपीओ का दीर्घकालिक व्यापार संबंध स्थापित करना

  3. एफपीओ (FPO) का सेवा प्रदाताओं जैसे विकास एजेंसियों, सरकारी संस्थानों, सीएसआर, आदि के साथ सशक्तिकरण कार्यक्रमों के क्रियान्वयन की सम्भावनाओ को तलाशना

  4. डिजिटल कृषि, स्मार्ट कृषि और इसके व्यापार मॉडल के साथ जागरूकता और एक्सपोजर को बढ़ावा देना । यह राष्ट्रीय व्यापार सम्मेलन देश में अपनी तरह से अद्वितीय है क्योंकि यह नए विचारों और व्यापार मॉडल के व्यावसायीकरण के लिए राष्ट्रीय स्तर पर एफपीओ (FPO) और एसएचजी के सशक्तिकरण को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित करता है । उल्लेखित/प्रस्तावित व्यावसायीकरण, अन्य एफपीओ, एसएचजी, व्यावसायिक संस्थानों , विकास एजेंसियों, सीएसआर, सरकारी संस्थानों आदि की सतत व्यावसायिक एवं कल्याणकारी गतिविधियों के साथ प्रबंधित एकीकरण के माध्यम से प्राप्त किया जाएगा। इससे किसानों, विशेष रूप से छोटे और सीमांत किसानों को उनकी कमाई के विकल्पों को बढ़ाने में मदद मिलेगी एवम उन्हे विकास की मुख्य धारा मे शामिल किया जा सकेगा


कार्यक्रम सूची

दिवस सत्र समय सत्र का नाम स्पीकर स्लॉट
दिवस 1 1 10.00 AM – 10.30 AM नाश्ता -------
2 0:30 AM - 12:35 AM उद्घाटन 6
3 12-25 AM to 1.00 PM चाय नाश्ता -------
4 1:00 PM - 2:00 PM जिला अधिकारियों के साथ बातचीत 6
5 2:00 PM - 3:00 PM दोपहर का भोजन --------
6 3:00 PM - 4:30 PM एफपीओ और एसएचजी के लिए पिच डेक 9
7 4:30 PM - 5:30 PM व्यावसायिक संगठनों के लिए पिच डेक 4
दिवस 2 1 9.30 AM – 10.00 AM नाश्ता --------
2 10:00 AM - 11:00 AM विकास एजेंसियों का पिच डेक 06
3 11:00 AM - 12:00 AM सरकारी संस्थानों की पिच डेक 06
4 12:00 PM - 1:00 PM वित्तीय संस्थानों का पिच डेक 02
5 1:00 PM - 2:00 PM स्टार्टअप के लिए पिच डेक 06
2.00 PM-3.00 PM दोपहर का भोजन -------
6 3:00 PM - 4:00 PM पुरस्कार वितरण समारोह 09 पुरस्कार
7 4:00 PM - 5:00 PM विदा 04

चर्चा के बिन्दु

बातचीत के बिंदु नीचे सूचीबद्ध हैं ,यदि माननीय मंत्री जी के दौरे को अंतिम रूप दिया जाता है तो हम सरकार के दृष्टिकोण और कार्यक्रम के अनुसार बिंदुओं का सूक्ष्म विवरण तैयार करेंगे।

एफपीओ/एफपीसी, एसएचजी और कृषि-स्टार्टअप कृषि व्यवसाय के साथ-साथ ग्रामीण परिवर्तन के लिए प्रेरक बनने जा रहे हैं।

एफपीओ/एफपीसी, एसएचजी और कृषि-स्टार्टअप को भारत सरकार का समर्थन ग्रामीण और शहरी युवाओं के लिए बड़े पैमाने पर व्यापार के अवसर पैदा करने जा रहा है। .

एफपीओ/एफपीसी, एसएचजी और कृषि और खाद्य प्रसंस्करण में स्टार्टअप के लिए वैश्विक अवसर

सुरक्षित भोजन के बाजार/व्यापार क्षमता, एफपीओ/एफपीसीसी, एसएचजी और ग्रामीण युवाओं के लिए एक अवसर

एफपीओ/एफपीसीसी, एसएचजी और डिजिटल/स्मार्ट कृषि में व्यापार के अवसर

आधुनिक कृषि और उच्च मूल्य कृषि में व्यावसायिक अवसर एफपीओ/एफपीसीसी, एसएचजी और ग्रामीण युवा

ग्रामीण व्यापार और ग्रामीण समृद्धि के लिए ई-कॉमर्स और ई-मार्केटप्लेस की भूमिका

बड़े पैमाने पर रोजगार और स्वरोजगार के सृजन में कृषि व्यवसाय की भूमिका

ग्रामीण भारत में कृषि व्यवसाय का विकास ही भारत का वास्तविक विकास है

गैलरी